घरेलु उपचार

Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmailby feather

१.वजन कम करने का घरेलू उपचार :

childhood obesityमोटापा आजकल एक आम समस्या है लोग बाजार में आये विभिन्न विज्ञापनों से भ्रमित हो विभिन्न वजन कम करने वाली औषधियों का प्रयोग करते आ रहे हैं*
एक योग आप चिकित्सकों के लिए महत्वपूर्ण है जिसे आप खुद बनाकर रोगियों को प्रयोग करा सकते हैं।सारी कच्ची औषधियां आपको सर्वसुलभ उपलब्ध हो जायेंगी।
आवश्यक औषधियां
1.गुग्गुलु Comiphora wightii 150 ग्राम
2.त्रिफला 100 ग्राम
3 यष्टिमधु यानि मुलेठी Liquorice 60 ग्राम
4.गिलोय Tinospora 60 ग्राम
5.नागरमोथा Cyperus rotundus 60 ग्राम
6.जीरा Cumin 60 ग्राम
7.शुंठी Dry ginger 60 ग्राम
8.इमली विलायती Camchili 100 ग्राम
******************************
सभी कच्ची औषधियों को बारीक यवकूट कर लें और कपड़छन कर किसी साफ़ डिब्बे में एयरटाइट कर रख लें।इसकी मात्रा लगभग 700 ग्राम हो जायेगी।
*******************************
अब इस पाउडर को आयु अनुसार 5 से 10 ग्राम की मात्रा में प्रयोग करायें।वजन के साथ साथ यह नेचुरल लाइपोसक्शन का काम करता है
********************************
नोट:उष्ण प्रवृति का योग होने के कारण प्रकृति एवं दोष का ध्यान अवश्य रखें

२.हलके फुल्के जले में उपयोगी घरेलु उपचार :

यूँ तो अक्सर हमें अपने चिकित्सकीय अभ्यास में हल्के फुल्के जले हुए व्रण के रोगी मिल जाते हैं
कहीं भी हल्का फुल्का जल गया हो तो आप इस योग का प्रयोग करें
निम्नलिखित सामग्रीयों को एकत्रित कर लें:-
देसी मोम-20 ग्राम
सिंदूर लाल-20ग्राम
कपूर-5 ग्राम
अंडे का सफ़ेद हिस्सा -20 ग्राम
की विधि*:इसे दग्ध स्थल पर लेप के तौर पर बारीक लगायें निश्चित लाभ मिलेगा।
*******************************
नोट:यह योग हल्के फुल्के जले (दग्ध व्रण) के लिए है न कि बर्न के रोगी का उपचार।

३.माईग्रेन के रोगी के लिए लाभकारी योग :

माइग्रेन एक आम समस्या है यह मूल रूप से अवयवस्थित जीवन शैली की देन है।चिकित्सक इसे आसानी से पहचान (डायग्नोज़) कर लेते हैं।
आप माइग्रेन  के रोगियों में भीमसेनी कपूर जो किसी भी पंसारी के यहां आसानी से मिल जायेगा इसे चने के बराबर की मात्रा  में देशीimages घी और गुड़ के साथ बनाये गये हलवे के साथ खिला दें।यह योग रोगी में फ़ौरन एनाल्जेसिक प्रभाव दर्शाता है।

यह योग अत्यंत लाभकारी है।
नोट:इसे चिकित्सकीय प्रयोग हेतु ही बताया जा रहा है ।

******************************************

४.बालों की सेहत को बेहतर बनाने के लिये एक बेहतरीन योग
imagesअच्छे सुन्दर काले घने बाल आपकी पर्सनालिटी में चार चाँद लगा सकते हैं।तनाव एवं बालों की सेहत का ध्यान न रखना असमय बालों के झड़ने और गंजेपन का एक बड़ा कारण है।अक्सर हम बाजार में कई तेलों को आप अपने रोगियों को प्रेस्क्राइब् करते हैं।लेकिन आज हम आपको एक साधारण सा मगर बेशकीमती फार्मूला बता रहे हैं जिसको आप स्वयं अपने रोगी या जरूरतमंद व्यक्ति को एक बेहतरीन हेयर आयल के रूप में दे सकते हैं।
इस गुणी तेल को बनाने के लिए आपको 5 चीजों की जरूरत होगी, जो आसानी से उपलब्ध हो सकती हैं:-

1 लहसुन की कलियां – 6 से 7
2 ताजा कटा हुआ आंवला – 2 से 3
3 कटा हुआ प्याज – 1 छोटा
4 अरंडी का तेल यानि कैस्टर ऑइल – 3 चम्मच
5 नारियल का तेल – 4 चम्मच
इन 5 चीजों को मिलाकर आप आसानी से इन तेल को बना सकते हैं।
*इसे बनाना कैसे है, अब यह भी जान लीजिए*-

विधि – सबसे पहले एक कटोरी में नारियल तेल और अरंडी के तेल को एक साथ मिक्स कर लीजिए। अब तेल के इस मिश्रण में कटे हुए लहसुन, प्याज और आंवला डालें और इस मिश्रण को धीमी आंच पर लगभग 5 मिनट तक पकाएं। अब इसे आंच से हटा लें और कम से कम 1 घंटे तक इन सभी चीजों को तेल में ही रहने दें। हो गया आपका तेल तैयार।
इस तेल को नियमित रूप से बालों में लगाने पर, हेयर फॉल यानि बालों का झड़ने के साथ साथ गंजेपन में भी लाभ मिलेगा।

Facebooktwittergoogle_plusrssyoutubeby feather
Facebooktwittergoogle_plusredditpinterestlinkedinmailby feather
 

1 Comment

  1. क्या विलायती इमली का सवाद मीठा होता है विलायती इमली हापुङ यूपी में मिल नहीं रही है फल वाले के पास मीठी इमली है क्या यही है

     

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*