आयुष दर्पण

स्वास्थ्य पत्रिका ayushdarpan.com

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail


जहाँ आज डेंगू जैसे वायरल संक्रमण से लोगो मे दहशत का माहौल है जैसे ही लोगो मे बारिश के मौसम में तेज बुखार,सर दर्द,मांसपेशियों एवं जोड़ों सहित पीठ एवं आई बॉल्स में दर्द,उल्टी,थकान ऐसे लक्षण उत्पन्न होते ही लोग दहशत में आकर पैथोलॉजी लैब की तरफ भागते है और अधिकांश लैब रेपिड कार्ड टेस्ट कर रिएक्टिव या नान रिएक्टिव यानि डेंगू पॉजिटिव या निगेटिव बता देते है जबकि इसका कंफर्मेटरी टेस्ट एलाइजा होता है जो सरकारी अस्पतालों में इस समय निशुल्क किया जा रहा है।डेंगू की दो अवस्थाएं होती है अधिकांश सामान्य वायरल संक्रमण की तरह वाले संक्रमण से ही पीड़ित होते हैं जो रोगप्रतिरोधक क्षमता के सामान्य होते ही वायरल लोड कम हो जाने से 5 से 7 दिनों में ठीक हो जाते हैं जबकि दूसरी स्थिति जो कम लोगो मे मिलती है वह डेंगू हेमरेजिक फीवर की है।पहली स्थिति जिसमे रोग प्रतिरोधक क्षमता के सामान्य होते ही वायरल लोड कम होने से डेंगू ठीक होता है में पपीते के पत्तियों का एक्सट्रेक्ट बेहतरीन काम करता है।यह बात एक नहीं अनेक शोध से स्पष्ट है आईये जाने कैसे पपीते के फल तो फल पत्तियां भी हैं बडे काम की।एशीयन पेसिफिक जर्नल ऑफ ट्रॉपिकल बायोमेडिसिन में प्रकाशित शोध जिसमे ताजे पपीते के पत्तों के एक्सट्रेक्ट के प्रभाव को हेमेटोलॉजिकल ,बायोमेडिकल एवं टॉक्सिलोजिकल स्टडी के द्वारा देखा गया,चूहों पर किये गए इस अध्ययन में न तो किसी प्रकार का बेहेवियरल परिवर्तन देखा गया न ही उनके द्वारा लिये जा रहे फ्ल्यूड इंटेक में कोई परिवर्तन पाया गया।इन शोध के निष्कर्षों में कैरिका पपाया के लीफ एक्सट्रेक्ट को थ्रोम्बोपोयोसिस एवं एरीथ्रोपोएसिस बढ़ाने वाला पाया गया। शोध पत्र का लिंक https://www.ncbi.nlm.nih.gov/pmc/articles/PMC3757281/
इसी प्रकार के एक अन्य शोध मे जिसमे कैरिका पपाया (पपीते) एक्सट्रेक्ट से बनाई गई कैप्सूल प्लेटेनजा के प्रभाव के क्लिनिकल इफेक्ट को देखने के लिये डेंगू के मरीजों मे रेंङमाइज्ड क्लिनिकल ट्रायल किया गया जिसमें इसके प्लेटलेट्स को बढ़ाने वाले प्रभाव देखे गयेhttps://www.amhsr.org/articles/clinical-evaluation-for-the-thrombopoietic-activity-of-platenza-tablet-in-cases-of-dengue-with-thrombocytopenia-randomized-open-la-4472.html
ऐसे ही कई शोध और क्लिनिकल रिसर्च पेपर कैरिका पपाया लीफ एक्सट्रेक्ट के ऑनलाइन मौजूद हैं जिनमे एक शोध पत्र उत्तराखंड आयुर्वेद विश्विद्यालय के बायोमेडिक्ल संकाय के वैज्ञानिकों का भी है लिंक देखें http://www.eurekaselect.com/169335/article
ये सभी लिंक स्वयं स्पष्ट करते हैं कि कैरिका पपाया के लीफ के एक्सट्रेक्ट का प्रयोग डेंगू के मरीजों मे अत्यंत प्रभावी है।

Facebooktwitterrssyoutube
Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

2 thoughts on “फल ही नही पत्तियों में भी हैं कमाल के फायदे

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed

Copyright © 2019 AyushDarpan.Com | All rights reserved.