आयुष दर्पण

स्वास्थ्य पत्रिका ayushdarpan.com

Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

नजला और जुकाम आमतौर पर हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता की कमी या फिर किसी एलर्जी के रेस्पॉन्स के कारण होती है । यह नाक के आसपास पाये जानेवाले साइनस के फूल जाने के कारण एक बड़ी समस्याबक रूप में सामने आता है जिसमे प्रायः नाक बहने जैसे लक्षण और सिर में भारीपन बना रहता है।
आज आयुष दर्पण के पाठकों के लिये हम एक छोटी सी टिप्स देने जा रहे हैं जिसके प्रयोग स आपकी बन्द नाक मिनटों में खुल जाएगी।
-सबसे पहले अपने सिर और शरीर को 45 डिग्री के कोण पर झुका लें और अपनी गर्दन को पहले बाई और मोड़ लें ताकि स्टरनोकलीडोमेस्टूयड मांसपेशी दिखने लगे ।अब नीचे की ओर 30 सेकेंड तक 4 से 5 बार हल्का मसाज करें,इस प्रक्रिया को गर्दन के दोनों तरफ करें।
-अब नाक के उपरी हिस्से के कठोर हड्डी वाले हिस्से में अपने तर्जनी अंगुली से नीचे की तरफ किनारों से गोल गोल गति देते हुए हल्के हल्के नीचे करे ओर 20 सेकेंड तक मालिश करें ,जब यह प्रक्रिया पूरी हो जाये तो नाक से गालों की तरफ फिर हल्का मसाज करें ।
-अब अपनी तर्जनी अंगुली को आँख के कोटर के नीचे नेत्रगोलक से ऊपर स्थित सुपरा ओरबाईटल नाच पर रखे और फिर और फिर 20 सेकेंड तक गोल गोल मसाज करें।यह प्रक्रिया दोनों ओर दुहराए ।इसके बाद दोनों और ललाट पर हल्का अपनी हथेलियों से हल्की मालिश करें।

जब आप इस प्रक्रिया को पूरी कर लेंगे तो आप अपनी साइनस की समस्या में एक फौरी राहत का एहसास मिनटों में कर पाएंगे।इस प्रक्रिया को विस्तार से समझने के लिये वीडियो देखें:-

Facebooktwitterrssyoutube
Facebooktwitterredditpinterestlinkedinmail

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copyright © 2019 AyushDarpan.Com | All rights reserved.